नीली !

वो जब भी पांव देखती अपने, हमेशा मिट्टी से सने दिखते उसे, छूती उनको तो मिट्टी कहीं नही दिखती, उसे याद आता वो दिन जब वो उसको मिला था, पगडंडी के रास्ते थोड़ा ऊपर नदी के साथ चलते वो वहां अपने घर के नीले दरवाजे के पास मिट्टी में ही खड़ा था, उसने वादा किया […]

सुनने आए हैं ❤️

गाहे बगाहे ये इल्म होते रहना तसल्ली देता है कि हम यहां इस बाग ए गुलिस्तां में जिसे दुनिया कहते हैं वहां बस अपनी कहने नहीं आये हैं, बहुत कुछ है जिसे हम सुनने आए हैं, मुझे अच्छा लगता है जब अंबर बातें करता है और उसकी बातों को बीच बीच में टोक कर सितारे […]

हम अपना सबर खो चुके हैं !!!

Neither I am from Himachal nor I am an environment expert but looking at news,pictures and listening from friends ,this sudden tourist influx at this time !!!!!!Only god save Himachal from any further covid wave 🙏 यह सोचने पर मजबूर हो जाते हो आप की आखिर बाहर ढूंढ क्या रहे हो आप,खुद से माना बहुत […]

बाबुल ❤️/Happy Father’s day

बाबुल के आंगन में जिंदगी होती है, हंसती,खेलती,उड़ती,तैरती,कूदती,नाचती,आंगन के बाहर समाज होता है घूरता,घेरता,रोकता,बांधता,निचोड़ता,घसीटता,बाबुल मगर कंधों पे उठाके उस जहां तक पहुंचने के पंख देता है ,जहां से समाज के हर ताने बाने पर आत्मविश्वास से बेटी वार करती है,हर बाधा को पार करती है बेटी अपने बाबुल को सबसे ज़्यादा प्यार करती है ❤️ […]

“What is compounding?

Finally हिंदी में समझने को बढ़िया Only if I truly have understood compounding at right time 😉, मगर अब भी देर नहीं हुई है , सदुपयोग करके जीवन को और बेहतर बनाया जा सकता है 🙂